Cme On World Thalassaemia Day


वल्र्ड मेडिकल कालेज आॅफ साईंसेज एवं रिचर्स, गिरावड़ में विष्व थैलीसिमिया दिवस के अन्तर्गत सी0एम0ई0 का आयोजन 08.05.2019 को विष्व थैलीसिमिया दिवस के उपलक्ष्य में वल्र्ड मेडिकल कालेज आॅफ साईंसेज एवं रिचर्स में सी0एम0ई0 का आयोजन पैथोलोजी व पीडियाट्रिक्स डिपार्टमेंट ने कालेज के विद्यार्थियों के साथ मिलकर किया। थैलीसिमिया बच्चों को उनके माता-पिता से होने वाला एक अनुवांषिक रक्त रोग है। इस रोग में रेड ब्लड सेल्स और हिमोग्लोबिन ग्रस्त होने के परिणाम स्वरुप अनिमिया हो जाता है, जो कि इन्सान के पूरे शरीर पर असर करता है। सी0एम0ई0 का शुभारम्भ कालेज के निदेषक एवं डीन डा0 नित्यानन्द, डीन एकेडमिक्स डा0 इन्दु खुराना, चिकित्सा अधीक्षक डा0 ओ0 पी0 धानिया व संस्थान के वरिष्ठ फैक्लटी मेम्बरस ने सरस्वती वन्दना के साथ दीप प्रज्जवलित किया।

डा0 करुणा, डा0 वीणा चैधरी व डा0 जसनीत सन्धु ने थैलीसिमिया जो कि अनुवांषिक बिमारी है के कारण लक्षण, प्रभाव व आधुनिक उपचार के लिए हो रही रिसर्च का विस्तार से वर्णन किया एवं इस बिमारी से बचने के लिए अनुवांषिक परामर्ष द्वारा आमजन को जागरुक करने हेतु अवगत कराया।

प्रोफेसर डा0 नित्यानन्द ने विष्व थैलीसिमिया दिवस 2019 के ध्येय पर विचार रखे व डा0 इन्दु खुराना ने विद्यार्थियों को बताया कि थैलीसिमिया को पूर्णतया खत्म तो नहीं किया जा सकता लेकिन अनुवांषिक परामर्ष द्वारा आमजन को जागरुक कराकर कम अवष्य किया जा सकता है, व प्रेरित किया कि किस तरह वे अपने योगदान द्वारा इस बिमारी से बचाव के लिए आमजनों को समझा सकते हैं।